रिश्वत मामले में थानाधिकारी लाइन हाजिर, ASI निलम्बित

sho line spot bribery

पुलिस अधीक्षक ( Kota) ने रिश्वत मामले (Bribery Case) में थानाधिकारी को लाइन हाजिर (SHO Line Spot) कर दिया है वहीं ट्रेप हुए एएसआई को निलम्बित करने के आदेश दिए गए हैं। पुलिस अधीक्षक कोटा सिटी ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

 

 

 

मारपीट के मामले में नाम शामिल नहीं करने और गिरफ़्तारी नहीं करने की एवज में बीस हजार की रिश्वत (Bribery Case) लेते हुए एसीबी कोटा ( Kota) ग्रामीण ने रेलवे कॉलोनी थाने के सहायक उप निरीक्षक गोविंद सिंह को 16 जुलाई को बोरखेड़ा से ट्रेप किया था। एसीबी ने इस संबंध में ईमेल के जरिए थानाधिकारी हंसराज व बिचौलिए महेन्द्र की भूमिका की शिकायत की थी।

 

 

 

इस पर कोर्ट ने एसीबी कोटा ( Kota) ग्रामीण को जांच के आदेश दिए थे। इस आदेश के बाद कोटा सिटी एसपी ने आदेश जारी कर रेलवे कॉलोनी थानाधिकारी हंसराज को लाइन हाजिर (sho line spot bribery) कर दिया वहीं एएसआई गोविंद सिंह को निलम्बित करने के आदेश दिए।

आठवीं फेल ने गूगल से सीखी ट्रिक, तीन राज्यों की पुलिस करने लगी एस्कोर्ट

 

 

 

उधर, रिश्वत लेने के आरोपी एएसआई गोविंद सिंह की जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी। एसीबी ट्रेप के बाद से वह जेल में है। बता दें कि एसीबी देहात की टीम ने गोविंद सिंह को बाराखेड़ा थाने के पास एक प्रोपर्टी डीलर के ऑफिस में बीस हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। भवानीमंडी निवासी टीपू पुत्र ईद मोहम्मद ने इस संबंध में ​एसीबी में शिकायत की थी।

देश-दुनिया की खबरों के लिए यहां Click करें। Click here …

 

Leave a Comment