राजस्थान पुलिस की नई योजना,विलेज गार्ड के लिए मांगे आवेदन

Application for Village Guard
राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) ने विलेज गार्ड (Application for Village Guard) योजना शुरू की है। इसके लिए पुलिस ने इच्छुक लोगों से आवेदन मांगे हैं। विलेज गार्ड बनकर पुलिस की मदद करने वाले व्यक्ति 16 जुलाई तक आवेदन जमा करा सकते हैं।

 
 

गृह विभाग ने मंगलवार को इस संबंध में अधिसूचना जारी की है। यह अधिसूचना आज से ही जारी हो गई है। विलेज गार्ड  के चयन के लिए जिला एसपी की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है। इस कमेटी में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और सीओ सदस्य के तौर पर शामिल होंगे। विलेज गार्ड बनने के लिए आवेदनकर्ता (Application for Village Guard) को शैक्षणिक योग्यता,उम्र और स्थायी पता के दस्तावेज देने होंगे। चरित्र और दस्तावेजों के  सत्यापन के बाद ही विलेज गार्ड नियुक्त किया जाएगा। 
 
 
 


बढ़ते अपराध पर लगेगा अंकुश

इस योजना से प्रदेश में लगातार बढ़ते अपराध पर अंकुश लगने की संभावना है। जानकारों का मानना है कि विलेज गार्ड (Village Guard) की मदद से पुलिस की पहुंच गांव-ढाणी तक हो सकेगी। सुरक्षा के साथ ही पुलिस को समय पर सूचनाएं भी मिल सकेगी। पुलिस का खुफिया तंत्र मजबूत होगा। पीएचक्यू से जारी आदेश में सभी एसपी को विलेज गार्ड का रिकार्ड रखने और समय-समय पर निर्धारित फॉरमेट में पुलिस महानिदेशक को इसकी सूचना देनी होगी।
 
 
 
 


विलेज गार्ड (Village Guard) के लिए यहां करे आवेदन

विलेज गार्ड के लिए 40 वर्ष से 55 वर्ष तक की आयु के स्थानीय ग्रामवासी अपने स्थानीय थाने से आवेदन पत्र (Application for Village Guard) प्राप्त कर स्थानीय थाने में ही 16 जुलाई 2020 तक जमा करा सकते हैं। इस सम्बन्ध में विस्तृत विवरण राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) की अधिकृत वेबसाइट पर अथवा स्थानीय जिला पुलिस अधीक्षक के कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है।
 
 
 


अवैतनिक स्वयंसेवक होंगे विलेज गार्ड 

राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) की मदद के लिए नियुक्त किए जाने वाले विलेज गार्ड (Village Guard) की सेवाएं स्वैच्छिक, बिना किसी मानदेय और मुआवजे की होगी। राजस्थान पुलिस अधिनियम, 2007 तथा राजस्थान पुलिस (संशोधित) अध्यादेश, 2020 के प्रावधान के अनुसार ग्राम रक्षक सूचिबद्ध करने के लिए आवेदन आमंत्रित (Application for Village Guard) किये गये है। महानिदेशक पुलिस भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि ग्राम रक्षक अवैतनिक स्वयंसेवक के रूप में 2 वर्ष के लिए सूचिबद्ध किये जायेंगे। किसी व्यक्ति को दोबारा गार्ड नहीं बनाया जाएगा।
 
 
 

Leave a Comment