राजस्थान में भी अब यातायात नियम तोड़ने पर लगेगा भारी-भरकम जुर्माना

Heavy penalty will be imposed for breaking traffic rules in Rajasthan

राजस्थान में भी सड़क सुरक्षा नियमों की पालना नहीं (Breaking Traffic Rules ) करने वालों पर भारी जुर्माना (Heavy Penalty Imposed) लगेगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के साथ चर्चा करने के बाद इसे मंजूरी दी। 1 सितम्बर, 2019 से लागू मोटर यान (संशोधन) अधिनियम-2019 के तहत जुर्माना राशि वसूली जाएगी।

 

 

राज्य में लापरवाही बरतने वाले वाहन चालकों पर (Breaking Traffic Rules ) कड़ी कार्रवाई होगी। सरकार ने जुर्माना राशि (Heavy Penalty Imposed) बढ़ाने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि सड़क सुरक्षा से जुड़े गंभीर अपराधों पर सरकार सख्त है। गंभीर प्रकृति की सड़क दुर्घटनाओं के लिए जुर्माना राशि भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित राशि के अनुरूप ही निर्धारित की है। इसके साथ ही, आमजन के साथ-साथ अल्प आय और मध्य वर्ग के हितों को ध्यान में रखते हुए वाहन चालन से जुड़े कम गंभीर प्रकृति के अपराधों में न्यूनतम जुर्माना राशि निर्धारित की है।

जुर्माना बढ़ाने के बाद CM उठाने जा रहे हैं ये बड़ा कदम

 

 

दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए बढ़ाया जुर्माना

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार (Rajasthan) के लिए प्रदेशवासियों के जीवन की रक्षा सर्वोपरि है। इसलिए ट्रैफिक नियमों की पालना कराने और दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए कड़ा रूख अपनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री गहलोत ने अधिकारियों को ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन (Breaking Traffic Rules ) और लापरवाही करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ताकि प्रदेश में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को न्यूनतम स्तर पर लाया जा सके।

 

 

अब इतना लगेगा जुर्माना

परिवहन विभाग की ओर से मोटर यान अधिनियम-2019 में संशोधन के लिए स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार, ओवरलोडिंग पर 40 हजार रूपए और न्यूनतम 20 हजार रूपए जुर्माना राशि (Heavy Penalty Imposed) निर्धारित की गई है। कम गंभीर प्रकृति के वाहन चालन अपराधों के लिए जुर्माना राशि 100 रूपए से 1000 रूपए तक होगी। लाल बत्ती जम्प करने, सड़क चिन्ह की अवहेलना करने, पार्किंग नियम तोड़ने, अनाधिकृत सायरन या लाइट लगाने, वाइपर नहीं होने, काली फिल्म लगाने जैसे सामान्य श्रेणी के अपराधों के लिए जुर्माना राशि न्यूनतम 100 रूपए ही रखी गई है।

 

 

ट्रेफिक नियम उल्लघंन करेगा जेब ढीली

भारत सरकार ने 1 सितम्बर, 2019 को मोटर यान (संशोधन) अधिनियम-2019 को लागू किया था। इसकी पालना अधिकांश राज्यों में हो रही थी। लेकिन अधिक जुर्माना राशि होने के कारण राज्य में इसे लागू नहीं किया गया था लेकिन अब प्रदेश में संशोधित अधिनियम 2019 लागू हो गया है। इसके तहत सीट बेल्ट और हेलमेट नहीं लगाने पर एक हजार रूपए का जुर्माना देना होगा। बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने पर पांच हजार रूपए का जुर्माना होगा। एंबुलेंस और दमकल को रास्ता नहीं देने पर दस हजार का जुर्माना लगेगा। बिना परमिट या परमिट के अलावा वाहन चलाने पर दस हजार रूपए जुर्माने का प्रावधान किया गया है। बिना अनुमति रंसिंग करने पर पांच हजार रूपए का जुर्माना लगेगा।

देश-दुनिया की खबरों के लिए यहां Click करें। Click here …

 

Leave a Comment