एक साल से बैंकों को बेवकूफ बना रहा था गिरोह, लाखों रुपए निकाले

Chittorgarh police caught Vicious gang

पुलिस ने एक ऐसे शातिर गिरोह (Caught Vicious Gang) का पर्दाफाश किया है जो पिछले एक वर्ष से बैंकों को झांसा देकर रुपए हड़प रहा था। गिरोह कई बैंकों को लाखों रुपए का चूना लगा चुका है। बार-बार एक जैसी घटना सामने आने के बाद शक होने पर पुलिस में केस दर्ज कराया गया। इसके बाद पुलिस (Chittorgarh Police ) ने तकनीकी मदद से पूरे गिरोह का खुलासा कर​ दिया।

 

 

 

शातिर तरीके से एटीएम मशीन हेक कर रुपए हड़पने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर पुलिस ने महिला सहित तीन जनों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनके अकाउंट में 36 लाख रुपए मिले हैं, इसके बाद इनके खातों को फ्रीज ​कर दिया है। पुलिस जांच में विभिन्न एटीएम से रुपए निकालने की बात सामने आई थी। पुलिस जांच, सीसीटीवी फुटेज और तकनीकी साक्ष्य के आधार पर पुलिस ने आरोपियों को नामजद किया। मनमोहन, हरीशचन्द्र और मेनका को पुलिस ने उदयपुर और लखनऊ से धर दबोचा। पूछताछ में इन्होंने (Caught Vicious Gang) एक वर्ष से विभिन्न बैंको के एटीएम मशीन को हेक कर रुपए निकालने की बात स्वीकार की है।

 

 

 

 

चित्तौड़गढ़ पुलिस अधीक्षक (Chittorgarh Police ) दीपक भार्गव ने बताया कि आरोपी अपने परिचितों के एटीएम कार्ड लेकर, उन एटीएम कार्ड से एटीएम मशीन से रुपए निकालने के दौरान मशीन को हेक कर रुपए ले लेते थे। इसके बाद बैंक को रुपए नहीं निकलने की शिकायत कर दोबारा रिफंड लेते थे। आरोपियों ने चित्तौड़गढ़, उदयपुर, जयपुर, भीलवाड़ा,अजमेर, कानपुर, ओरई और लखनऊ स्थानों पर इसी तरह की वारदात करना स्वीकार किया है।

 

 

 

आरोपियों के बैंक खाते किए सीज

पुलिस जांच में आरोपियों और उनके परिजनों के विभिन्न बैंक खाते में जमा कराए 36 लाख रुपए मिले हैं। इन सभी बैंक अकाउंट को फ्रीज करा दिया। आरोपियों के पास से विभिन्न बैंकों के 61 एटीएम कार्ड व घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं।

पढ़े -सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की जांच को लेकर पीएम मोदी से अपील

 

 

 

यह था मामला

एसबीआई बैंक के एटीएम संचालित करने वाली टीएसआई कंपनी के सुपरवाईजर नरेन्द्र सिंह ने 20 फरवरी को केस दर्ज कराया था। नरेन्द्र ने बताय कि एसबीआई के विभिन्न एटीएम से छेड़छाड़ कर अज्ञात बदमाशों ने 4 लाख 68 हजार 400 रुपए निकाले हैं। इस पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की।

 

 

 

[su_divider]

Jaipurpage.com से जुड़े रहने और सबसे पहले Hindi news पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक इंस्टाग्राम, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करें। यहां पढ़िए राजस्थान और जयपुर से जुड़ी ब्रेकिंग न्यूज और लेटेस्ट न्यूज़ इन हिंदी।

देश-दुनिया की खबरों के लिए यहां Click करें। Click here …

Leave a Comment